बदहाली का जीवन जीने को विवश है गाड़िया लोहार समुदाय

देवेन्द्रराज सुथार जालोर, राजस्थान 'न हो कमीज़ तो पांव से पेट ढक लेंगे, ये लोग कितने मुनासिब हैं इस सफ़र के लिए. 'दुष्यंत कुमार' का यह शेर राजस्थान के जालोर जिला स्थित बागरा कस्बे में बदहाली का जीवनयापन कर रहे गाड़िया लोहार समुदाय की…
Read More...

बेटियां मारी और बहुएं खरीदी जाती हैं

सीटू तिवारी पटना, बिहार हरियाणा के जींद में सड़क किनारे ढ़ाबे पर तेज आवाज में एक हरियाणवी गाना बज रहा है, जिसका अर्थ है “इतनी उम्र में ब्याह नहीं हो पाया है तो एक जरूरी बात सुनो, 30-35 हज़ार का जुगाड़ करो और बहु ले आओ मोल (खरीद) की, रेल…
Read More...

गांव में देसी शराब से बर्बाद हो रहे गरीब-मजदूर

वंदना मुजफ्फरपुर, बिहार बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में देसी शराब से होने वाली मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अभी एक महीना पहले ही इसके सेवन से दो दर्जन से अधिक लोगों ने अपनी जान गवाई थी. आश्चर्य की बात यह है कि पिछले महीने…
Read More...

कानून बनाने से नहीं, सोच बदलने से ख़त्म होगी लैंगिक असमानता

भारती डोगरा पुंछ, जम्मू कहते हैं कि जिस घर में होता है बेटियों का सम्मान, वह घर होता है स्वर्ग के समान. हमारा संविधान किसी प्रकार से लड़का और लड़की में फर्क की इजाज़त नहीं देता है. लेकिन आज़ादी के 75 साल में भी देश के दूरदराज इलाकों में…
Read More...

बेजुबान पक्षियों को बचाने की मुहिम

संतोष सारंग मुजफ्फरपुर, बिहार वन्य प्राणी, पशु-पक्षी, जीव-जंतु आदि हमारे सहचर हैं. पर्यावरण संतुलन एवं भोजन चक्र को बनाए रखने के लिए भी ये बेजुबान प्राणी हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं. इस लिहाज से इनका संरक्षण करना बेहद जरूरी है. लेकिन चिंता…
Read More...

छात्रवृत्ति योजना से क्यों वंचित हैं बिहार की छात्राएं?

सौम्या ज्योत्सना मुजफ्फरपुर, बिहार किसी भी प्रकार की छात्रवृत्ति आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त कर जीवन में आगे बढ़ने में मदद करती है. इसे उनके उज्ज्वल भविष्य की कुंजी मानी जाती है. यही कारण है कि केंद्र से लेकर तमाम…
Read More...

असंगठित क्षेत्रों में महिलाओं का आर्थिक शोषण

भाग्यश्री बोयवाड महाराष्ट्र हमारे देश की अर्थव्यवस्था में असंगठित क्षेत्र का एक बड़ा योगदान है. एक आंकड़े के अनुसार करीब 40 करोड़ लोग इस क्षेत्र में काम करते हैं. जिसमें बड़ी संख्या महिलाओं की है. कपड़े और गहने की छोटी बड़ी दुकानों के…
Read More...

ऊपर एक्सटेंशन तो नीचे काहे का टेंशन, बने रहेंगे वी.डी. भईया

सुबोध अग्निहोत्री 2024 के लोकसभा चुनाव की दूरदृष्टि रखते हुये भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा को जून 2024 तक का एक्सटेंशन भाजपा की राष्ट्रीय कार्यसमिति ने दे दिया।अटकलें लगाई जा रही थीं कि प्रदेश की सत्ता व संगठन में भी…
Read More...

मौसम के बदलते मिजाज़ को समझना ज़रूरी है

नितिन बिष्ट नैनीताल, उत्तराखंड जोशीमठ में जो कुछ भी हो रहा है, वह प्राकृतिक आपदा तो बिल्कुल भी नहीं है. विकास के नाम पर विनाश की यह नींव हम इंसानों ने ही रखी है. इसकी शुरुआत कोई एक दो साल पहले नहीं हुई है बल्कि दशकों से यही सब होता आ…
Read More...

राजस्थान की कलात्मक विरासत को सहेजती महिलाएं

शेफाली मार्टिन्स जयपुर, राजस्थान राजस्थान के विभिन्न हस्तशिल्प कलाओं में लाख की चूड़ियां अन्य आभूषणों से बहुत पहले से मौजूद थी. वैदिक युग की यह ऐतिहासिक विरासत कला पीढ़ी-दर-पीढ़ी उन व्यापारियों और कारीगरों के हाथों से चली आ रही है जो…
Read More...