11 निजी स्कूलों पर कलेक्टर द्वारा की गयी कारवाई में से 6 स्कूलों ने कम की अपनी फीस

मध्य प्रदेश, 8 जुलाई । जबलपुर में स्कूली फीस और कॉपी किताब के नाम पर अभिभावकों से की जा रही लूट के मामले में कलेक्टर की कार्रवाही आगे बढ़ती जा रही है। इस मामले में 11 स्कूलों के संचालक और जिम्मेदारों पर कार्रवाही की गई थी। किन्तु अब इस मामले में एक राहत भरी खबर है 11 में से 6 स्कूलों की फीस कम हुई है और 5 स्कूलों पर फैसला अभी बाकी है। स्कूलों द्वारा नियम विरूद्ध ज्यादा फीस वसूली मामले में कलेक्टर ने अच्छी पहल की है। कलेक्टर ने 6 निजी स्कूलों की फीस कम करवाई है,इससे पालकों को भारी भरकम फीस से कुछ राहत मिलेगी।

जिन स्कूलों की फीस कम हुई उनके नाम – लिटिल वर्ल्ड स्कूल कटंगा, क्राइस्ट चर्च बॉयज एंड गर्ल्स स्कूल,स्टेमफील्ड इंटरनेशनल स्कूल, ज्ञान गंगा आर्केड इंटरनेशनल स्कूल,चैतन्य टेक्नो विद्यालय जबलपुर विजय नगर,क्राइस्ट चर्च डायशेसन स्कूल घमापुर अभी शेष 5 स्कूल बाकी हैं।

इसके अलावा कलेक्टर द्वारा सभी निजी स्कूल संचालकों को गलती सुधारने एक समय सीमा दी गयी थी फीस वृद्धि और ड्रेस एवं किताबों की मोनोपॉली के खिलाफ की गई कार्रवाई के बाद,कलेक्टर दीपक सक्सेना ने शहर के सभी प्राइवेट स्कूलों को 28 जुलाई तक का समय दिया था। पूर्व में एक बैठक में निजी स्कूल संचालकों ने कलेक्टर से कहा था कि वे अपनी गलती सुधारकर इसकी जानकारी 28 जुलाई तक कलेक्टर के समक्ष पेश करेंगे। लेकिन अब तक किसी भी स्कूल के द्वारा गलतियों को सुधारी जाने की जानकारी कलेक्टर तक नहीं पहुँची हैं। अब तक कुछ ही स्कूलों ने इस निर्देश का पालन किया है। बैठक में स्कूलों को अपनी फीस वृद्धि, ड्रेस और किताबों की जानकारी पोर्टल पर डालने के लिए निर्देशित किया गया था।

कलेक्टर दीपक सक्सेना के अनुसार अब तक उनके पास अधिकतर निजी स्कूल की जानकारी नहीं पहुंची है जिन्होंने फीस वृद्धि,ड्रेस और किताबों की जानकारी पोर्टल पर डाली हो। बहरहाल जो भी हो परन्तु कलेक्टर द्वारा दी गयी समय सीमा का पालन न करने पर 28 जुलाई के बाद इन स्कूलों पर कार्रवाही की जा सकती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.