बस्ती पहुंचे अखिलेश यादव ने विपक्ष पर जमकर साधा निशाना

बस्ती। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है किइस लोकसभा चुनाव में इण्डिया गठबन्धन जीत हासिल करके सरकार बनाने जा रहीहै।सोमवार को लोकसभा क्षेत्र बस्ती के राजकीय इण्टर कालेज परिसर मेंसपा-कांग्रेस गठबन्धन के प्रत्याशी राम प्रसाद चौधरी के पक्ष मेें आयोजितचुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए श्री उन्होने कहा कि इण्डिया गठबन्धनको पूरे देश में अपार जनसमर्थन मिल रहा है ये चुनाव संविधान बचाने का है बचाने के लिए हर वर्ग के लोग इण्डिया गठबन्धन से जुड़ रहे हैभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हताश और निराश हो गयी इसलिए विभिन्नप्रकार के जुमलेबाजी कर रही है। उत्तर प्रदेश म भारतीय जनतापार्टी सभी सीटें हारने जा रही है भाजपा हटेगी तभी संविधान बचेगा और देशतथा प्रदेश के लोगों को रोजगार मिल पायेगा।

अखि‍लेश ने कहा कि चार चरणों मे पड़ रहे वोट से भाजपा कीहालतखराब हो गई है। जनता से पूछा कि इंडिया गठबंधन की हवा चल रही है या नहीं।कहा कि आज मौसम भी बदल गया है। बाइक महंगी, दवा महंगी हुई। पहले 500 एमजीकी पैरासिटामोल खाने से बुखार उतर जाता था। अब 650एमजी खाना पड़ रहा है। बताओ कि मंहगाई बढ़ी की नहीं। वैक्सीन वालों से पैसा वसूलने की बात हो रहीहै। कंपनी वाले कहते हैं कि वापस लेंगे। कंपनी वाले कहते हैं कि वापसलेंगे, जो वैक्सीन शरीर में चली गई, वह कैसे वापस होगी। ये बीजेपी वालेसंविधान के पीछे पड़े हैं। यदि बीजेपी जीत गई तो ये संविधान है वह छीन लेंगे। हमें वोट देने का अधिकार नहीं मिलेगा। बाबा साहब कासंविधान बचानाहै।उन्होंने कहा कि भाजपा के वादे झूठे निकले। किसानों की आय दुगना करने कावादा किया किया। किसानों पर कर्ज बढ़ रहा है। बड़े उद्योगपतियों का कर्जमाफ किया जा रहा है। किसान के खिलाफ काला कानून लाया जा रहा है। किसानों ने आंदोलन किया तो उसे वापस लेना पड़ा। चार जून के बाद हमारी सरकार बनेगीतो किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। किसानों का एमएसपी के लिए कानूनबनेगा। इस सरकार में जो भी परीक्षा हुई, सभी का पेपर लीक हो गया। नौजवानजानते होंगे एक, दो नहीं, दस परीक्षाओं के पेपर लीक हुए हैं।नौजवान पुलिसकी परीक्षा देकर घर आ रहे हैं तो पता चल रहा है कि पेपर लीक हो गया। अभी तक 60 लाख बच्चों का पेपर लीक हुआ। यदि एक परिवार से तीन लोगों को जोड़लें तो एक करोड़ 80 लाख वोट कम हो गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.