लक्ष्मी बाई महाविद्यालय में हर्षोल्लास से मनाया गया झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का जयंती समारोह

कालेज की छात्र छात्राओं ने पेश किए अनेक रंगारंग कार्यक्रम और "खूब लड़ी मर्दानी वो तो झांसी वाली रानी" की शानदार प्रस्तुति

नई दिल्ली। (अनवार अहमद नूर) महान स्वतंत्रता सेनानी, विरांगना महारानी लक्ष्मीबाई का जयंती समारोह राष्ट्रीय सैनिक संस्था और लक्ष्मीबाई कालेज (दिल्ली विश्वविद्यालय) के संयुक्त तत्वावधान में कालेज के ही ललित कला प्रांगण में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। इस अवसर पर दिल्ली और अन्य राज्यों से बड़ी बड़ी हस्तियां शामिल हुईं। मुख्य अतिथि प्रज्ञा पीठाधीश्वर साध्वी विभानंद गिरी मां और  राजेंद्र प्रताप पांडे महासचिव लक्ष्मीबाई न्यास वाराणसी रहे।
समारोह में जनरल रंजीत  सिंह, डॉ उमा शशि दुर्गा, डॉ रवि शर्मा, दिल्ली यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर डॉ सपना बंसल, दिल्ली पुलिस की सब इंस्पेक्टर किरण सेठी,राष्ट्रीय सैनिक संस्था एनसीआर के संयोजक राजीव जोली खोसला और दिल्ली संयोजक वेद प्रकाश और वरिष्ठ पत्रकार अनवार अहमद नूर मुख्य रूप से शामिल रहे। एंथनी डिसूजा अंतरराष्ट्रीय मोटरसाइकिल चालक ग्रुप ने भी भाग लिया। सर्व प्रथम महारानी लक्ष्मीबाई को पुष्पांजलि अर्पित की गई और मां सरस्वती गान हुआ।
कालेज की प्रधानाचार्या डॉ प्रत्यूष वत्सला ने इस अवसर पर कहा कि महारानी लक्ष्मीबाई के जन्म दिवस को यहां विशाल रूप में राष्ट्रीय सैनिक संस्था के साथ मनाते हुए उन्हें अपार हर्ष और गौरव की अनुभूति हो रही है। महारानी लक्ष्मीबाई का व्यक्तित्व प्रेरणादायक और विश्व स्तरीय है। हमारी युवा पीढ़ी उससे सबक़ लेकर आगे बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि हमारे यहां युवा पीढ़ी, छात्राओं की एक महारानी लक्ष्मीबाई रेजीमेंट बने ऐसी उनकी इच्छा है। कवित्री पूनम माटिया, विभा वैभवी की देशप्रेम की कविताओं और विधार्थियों की शानदार ऐतिहासिक प्रस्तुतियों ने सभी का मन मोह लिया।
“बुंदेले हरबोलो के मुंह हमने सुनी कहानी थी
खूब लड़ी मर्दानी वो तो झांसी वाली रानी थी।”
का मंचन और गायन सभी को भाव विभोर कर गया। हितेश शर्मा ने भी युवाओं के बीच शहीद भगत सिंह का नाटय रूपांतर पेश किया। युवा शक्ति मीनू ने रानी लक्ष्मीबाई के संपूर्ण जीवन पर आधारित एकल नाट्य प्रस्तुत किया तो अंजलि शर्मा ने झांसी की रानी की भूमिका निभाई, जिसने सभी का मन मोह लिया।
प्रसिद्ध कवित्री एवं समाज सेवी ममता चौधरी ने अपना बेहतरीन काव्य पाठ किया, पूनम माटिया ने अपने काव्यपाठ से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। विभा राज वैभवी की रचना “मैं भी भारत की बेटी हूं” दिलों को छू गई। शायर आरिफ देहलवी ने अपनी शायरी पेश की तो कलाकार लोकेश शर्मा ने भी गीत प्रस्तुत किया। सुरेंद्र पुष्करणा ने अपनी मधुर आवाज़ में गीतों को पेश करके युवाओं में देश प्रेम के ज़ज़्बे को बढ़ाया।
संदीप गुड़ियाल की संस्था द्वारा सर्टिफिकेट प्रदान किए गए। रोशनी रहेजा ,राजू रहेजा, रूबी, महेश, शाम जैन ,प्रवीण कुमार जैन, डीके मेहंदीरत्ता और महाविद्यालय के विद्यार्थियों समेत बड़ी संख्या में देशप्रेमियों ने समारोह में भाग लिया और रानी लक्ष्मीबाई को दिल से याद किया। राजीव जोली खोसला ने लक्ष्मीबाई महाविद्यालय की प्रिंसिपल और सभी आगंतुकों व सहयोगियों का हृदय से आभार व धन्यवाद  व्यक्त किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.